रिटायर्ड शिक्षकों से सेवा लेना : लाभ व हानि की दृष्टि से

485

शिक्षा विभाग की ओर से संविदा के आधार पर केंद्र सरकार व राज्य सरकार के सेवानिवृत शिक्षकों की सेवाएं लेने की निर्णय लिया गया है। इस पर विचार करने की आवश्यकता है। क्या संविदा पर रिटायर्ड शिक्षकों को रखने से बिहार के स्कूली शिक्षा का स्तर ऊपर उठेगी या फिर सरकार अपना पीन छुड़ाना चाहती है। क्या इस से शिक्षा व्यवस्था चौपट हो जाएगा। रिटायर्ड लोगों से सेवा, शिक्षा व्यवस्था को और ज्यादा बर्बाद या आबाद करेगी।

आईए जानते हैं। बिहार की शिक्षा व्यवस्था पर रिटायर्ड शिक्षकों का क्या असर होगा।
लोग कहते हैं कि रिटायर्ड लोग सच में रिटायर होते हैं। क्या यह बात सच है?
कि रिटायर्ड शिक्षक , शरीरिक व मानसिक रूप से रिटायर होते हैं?
मान लेते हैं आदि रिटायर्ड लोगों रिटायर नहीं होते हैं तो फ़िर उसे रिटायर क्यों क्या जाता है!!??
50 साल की आयु में ही रिटायर करने की बात क्यों कर रही थी?
मानव पूंजी को क्यों नष्ट कर दिया जाता है? जब तक जीवित रहे उस से सेवा लिया जाना चाहिए।
राजद ने यह बिहार सरकार पर आरोप लगाया है कि सरकार जान बूझकर शिक्षकों की बहाली रोके रखी है साथ ही नवनियुक्त शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी से बिहार में शिक्षकों की निमित नियुक्ति के साथ साथ, दम तोड़ती शिक्षा व्यवस्था को बेहतर करने की मांग भी की है।

इतना तो सच है कि रिटायर शिक्षक समय से स्कूल नहीं पहुंच पाएंगे। बच्चों की भावनाओं को सही ढंग से नहीं समझ पाएंगे। क्योंकि इस इस के लोग मानसिक बीमार होते हैं…………. शिक्षा व्यवस्था को बेहतर नहीं कर पाएंगे।
इस माडर्न दौर में नए नए टेक्नोलॉजी के प्रयोग भी नहीं कर पाएंगे। रिटायर्ड शिक्षक 21 वी सदी की जरूरतों को किसी भी हाल में पूरा नहीं कर पाएंगे। इसे न रोजगार की जरूरत है। और न रोजगार से जुड़ना चाहते हैं।जबकि दूसरी ओर हमारे पास नए दौर के तकाजओं से लैस युवा बेरोजगार प्रशिक्षित शिक्षक मौजूद हैं। इसे रोजगार की जरूरत है। ये रोजगार के काबिल भी है। और ये रोजगार से जुड़ना भी चाहते हैं।
ये समय के अनुसार बच्चों की जरूरतों को पूरा कर पठन पाठन को और गति दे सकते हैं।
यदि हमें शिक्षा व्यवस्था बेहतर करना है तो सबसे पहले आर टी ई 2009 के मानकों को पूरा करने वाले प्रशिक्षित शिक्षकों की नियुक्ति करना होगा, स्कूलों में पढाने को शिक्षक मौजूद होगें तभी तो अभिभावक गण अपने को को शिक्षा के लिए स्कूल भेजेंगे!!!???