शिव गंज पुल और सरकारी रवैया

64
kadwa katihar

तीन साल से कार्य प्रगति पर!!!
यहां पर एक भी सरकारी नाव नहीं!!!
यदि सरकारी नाव हो भी तो इस की जानकारी आम जनता को नहीं है। यह इस लिए कि सब नाव वाले वसूली जबर्दस्त तरीके से कर रहे हैं!!
निजी नाव सेवाएं उपलब्ध है!!!
भाड़ा चार्ट तालिका
10₹ प्रति व्यक्ति
20₹ साईकिल सहित
50₹ बाईक
रोज़ाना 25 से ज्यादा निजी नाव चलती है ।
नाव मालिक का नाम, मोबाइल नंबर, इत्यादि की जानकारी सचिव के पास होता है!
रोजाना नाव मालिकों को अपनी कमाई का 20% सचिव को इमानदारी से जमा करना पड़ता है!
अब समझ आई होगी कि सरकारी नाव का व्यवस्था हमारे कदवा प्रखंड के विधायक डॉ शकील अहमद खां व कटिहार के सांसद दुलाल चंद गोस्वामी जी क्यों नहीं करा रहे हैं!!!???
यह भी समझ आई होगी कि नाव किराया इतनी अधिक क्यों वसूला जा रहा है !!??
आदि आप को लगे कि बाढ़ प्रभावित लोगों को सरकारी नाव का सुविधाएं मिलनी चाहिए तो उठाए अपनी आवाज़ और मांगें अपनी अधिकार!!!
और अगर आप की ज़मीर ही मर चुका हो तो कोई बात नहीं हम अकेले जुल्म के खिलाफ आवाज़ उठाते रहेंगे।
हमें यकीन है हम आप की ज़मीर को एक न एक दिन जरूर जिन्दगी देंगे ।
आप की ज़मीर जाग उठेगी !! फ़िर एक नया इंकलाब आएगा ।
धन्यवाद !

लेखक :सद्दाम हुसैन टी जी टी सोशल साईंस